Fikar Quotes in Hindi 2023

Here is the collection of 30+

Fikar Quotes in Hindi and Fikar shayari in hindi.

Fikar Quotes in Hindi

तुम्हारी फिक्र है मुझे, इसमें कोई शक नहीं, तुम्हें कोई और देखे, यह किसी को हक नही

Fikar whatsapp status

अब बेफिक्र रहा करो तुम,
मेरी फ़िक्र करना छोड़ दो,
हो सके तो इतना करना,
मुझे आय हेट यू बोल दो।

कभी आओ बैठते है बतलाते है, दुनिया की फिक्र छोड़, दिल की सुनाते है

मै तो सिर्फ फ़िक्र कर सकता हु तेरी,
लेकिन जब भी मैं होटल में जाता हूँ,
तो तेरा जिक्र वह के वेटर जरूर करते है,
कहते है मैडम नहीं आई आज।

जो लोग सबकी फिक्र करते हैं, अक्सर उन्हीं की फिक्र करने वाला कोई नहीं होता हैं

नहीं रहना है मेरे दिल में,
तो मत रह मेरी जानेमन,
बस मेरी फ़िक्र करना मत छोडना तुम,
जब ये फ़िक्र प्यार में बदल जाये,
तो सच में बता देना मुझे तुम

अब नही करेंगें हम फिक्र तेरी, क्युकी तुम्हारी फिक्र तो जमाना करता ह

फिक्र शायरी इन हिंदी
सबसे ज्यादा फ़िक्र करता था मै किसी की,
आज सिर्फ यादें रह गयी मेरे पास उसी की,
अब किसी से दिल भी नहीं लगता मेरा,
बस यादों में खोया रहता हु मै उसी की।

मुस्कान के सिवा कुछ न लाया कर चेहरे पर, मेरी फ़िक्र हार जाती है, तेरी मायूसी देखकर

तू कितनी भी नफरत कर ले मुझसे,
प्यार तो तू मुझसे ही करती है,
तू दूर तो रहती है मुझसे,
लेकिन फ़िक्र तो तुम मेरी ही करती ह

फ़क्र ये के तुम मेरे हो, फ़िक्र ये पता नही कब तक

नसीब से मिलता है फ़िक्र करने वाला,
बस उसकी कदर करने वाला चाहिए,
नफरत छोड़ दिल में बस प्यार होना चाहिए

टूटे दिल की अपनी ना फ़िकर पर उसकी फ़िकर किये जा रहा हूँ, समझ नही आता कि ये इश्क़ हैं या कोई हद किये जा रहा ह

उन्हें मेरी फ़िक्र कहा,
मै कैसा भी रहु इधर,
बस वो खुश रहे उधर,
हम प्यार करते है उनसे इस कदर

कितनी फ़िक्र है कुदरत को मेरी तन्हाई की, जागते रहते हैं रात भर सितारे मेरे लिए

इस ज़िन्दगी में खुद का रास्ता,
खुद ही बनाना पड़ता है,
दुसरो की फिकर छोड़,
पहले अपनी फ़िक्र करना पड़ता है

जिक्र से नहीं फिक्र से पता चलता है, इस दुनिया में अपना कौन है

सबसे ज्यादा फिक्र करता हु मै उसकी,
जिसने बात करना छोड़ दिया है मुझसे

वो मेरी फ़िक्र तो करता है मगर प्यार नहीं, यानी पाज़ेब में घुँघरू तो हैं झंकार नहीं

किसी की फिकर ज्यादा करना छोड़ दिया हमने,
अब किसी से दिल लगाना छोड़ दिया हमने

नसीब में नही होते फिकर करने वाले लोग, जो फिकर करते है, अक्सर उन्हे ग़लत समजते है लोग

तुम कैसी हो ये तो बताओ न मुझे,
तेरी फ़िक्र रहती है मुझे

आप हमारी फ़िक्र न किया करो इस कदर, वरना हम बना लेंगे आपको अपने बच्चो के मदर

जब भी तेरा जिक्र करता हु मै,
दुनिया कहती है कितनी फ़िक्र है तुझे उसकी

कभी आओ बैठते है, बतलाते है, दुनिया की फिक्र छोड़, दिल की सुनाते ह

तुझे बताकर तेरी फ़िक्र क्या करूँ मैं,
बिन बताये ही तेरी फ़िक्र करने में मज़ा आता है,
तू प्यार कर या ना कर मुझ से,
तुझे एक तरफा प्यार करने में ही मज़ा आता है

छोटी छोटी बात पर गुस्सा करने वाले लोग वही होते है, जो दिल से प्यार और सोच में फिकर रखते ह

तुझसे प्यार किया करता था,
तेरी फ़िक्र किया करता था,
तुझे दूर से देख के ही,
मै अपने आप में ही खुश रहता था

ये फिकर ये अदावतें ये अंदाज़ ऐ गुफ्तगूं, संभल जाओ तुम, तुम्हें हमसे मोहब्बत हो रही है

छोड़ दिया है तुमने मुझसे प्यार करना,
फिर भी मै तुमसे प्यार करता हु,
दिन रात यादों में तेरे खोया रहता हु,
बस तेरी फ़िक्र करता रहता ह

फिकर करता हू तुम्हारी, ज़िकर इसका करना जरूरी तो नह

कोई फिकर करे या न करे मेरी,
हम खुद की फ़िक्र करना जानते है,
कितनी भी मुश्किलें क्यों न हो ज़िन्दगी में,
उनका सामना करना हम जानते है

शिकायत है उनको हम से कि उनकी क़दर नहीं, हमें फिक्र है बहुत पर ज़िक्र नहीं करते

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *